|| ॐ परम तत्त्वाय नारायणाय गुरुभ्यो नमः ||

प्राचीन भारतीय आध्यात्मिक विज्ञान का पूर्णविकास

प्राचीन युगीन भारतीय ऋषि-मुनियों ने हजारों साल पहले साधनाओं, दीक्षाओं,, ज्योतिष , आयुर्वेद, कुंडलिनी, योग, अंक विज्ञान, रसायन विद्या व अन्य दिव्य आध्यात्मिक विषयों पर गूढ़ ज्ञान की खोज की थी। पूज्य गुरुदेव डॉ। नारायण दत्त श्रीमालीजी (तपस्वी जीवन में परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंदजी) सिद्धाश्रम से इस गौरवशाली प्राचीन भारतीय ज्ञान को पुर्नजीवित - कायाकल्प करने के लिए अवतरित हुए । उन्होंने 300 से अधिक पुस्तके, मासिक पत्रिका, हजारों मल्टीमीडिया सीडी, और दुनिया भर में हजारों साधना शिविरों के आयोजन से व्यक्तिगत मार्गदर्शन प्रदान करते हुए वेद, उपनिषद और पुराणों के व्यावहारिक पहलुओं को फिर से समाज के सामने प्रस्तुत किया।

  • क्या आप आध्यात्मिक उद्धार तलाश रहे हैं??
  • क्या आप अपने जीवन के असली उद्देश्य को ढूंढ रहे हैं?
  • क्या आप तंत्र के माध्यम से अपने जीवन को सुधारना चाहते हैं?
  • क्या आपको प्रतिदिन सुबह जागने से डर लगता हैं?
  • क्या ऋण, बीमारी या षड्यंत्र लगातार आपके मन को विचलित कर रहे हैं?
  • क्या आप व्यवसाय, वैवाहिक या पारिवारिक जीवन में समस्याओं-संघर्षो से झूंझ रहे हैं?
  • क्या किसी ने आपके ऊपर टोना-टोटका कर दिया हैं।
  • क्या आप अपने सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद परिणाम प्राप्त करने में असमर्थ हैं?
  • क्या आप विपरीत ग्रह चाल - संयोजन से पीड़ित हैं?
  • क्या आपका खर्च आपकी आय से अधिक है?

भगवान हम सब को प्यार करते हैं । उन्होंने प्रत्येक के लिए एक स्पष्ट उद्देश्य की कल्पना की है। हर व्यक्ति खास है। सबको अपने कर्मों के परिणाम भोगने पड़ते है। हमारे परिवार में हमारा जन्म हमारे नियंत्रण में नहीं था। लेकिन एक प्रबुद्ध गुरु हमें जीवन के वास्तविक उद्देश्य को पहचानने एवं हमारे कलुषित जीवन को एक बेहतर भाग्य में बदलने के लिए मार्गदर्शन दे सकते हैं। श्रद्धा , विश्वासएवं दृढ़ संकल्प से सब कुछ संभव है।

आइए, हम प्राणों की गहराहियों में उतर कर अपने आध्यात्मिक एवं भौतिक जीवन में सर्वांगीण सफलता और पूर्णता प्राप्त करें.।

साधना शिविर

अक्टूबर, 2020

SADHANAS इस महीने

अक्टूबर, 2020

शुभ मुहूर्त

तारीख

रविवार

17, 24 सितंबर और 1, 8 अक्टूबर

सोमवार

18, 25 सितंबर और 2, 9 अक्टूबर

मंगलवार

19, 26 सितंबर और 3, 10 अक्टूबर

बुधवार

20, 27 सितंबर और 4, 11 अक्टूबर

बृहस्पतिवार

14, 21, 28 सितंबर और 5, 12 अक्टूबर

शुक्रवार

15, 22, 29 सितंबर और 6, 13 अक्टूबर

शनिवार

16, 23, 30 सितंबर और 7 अक्टूबर

दिन

07: 36 - 10: 00

12: 24 - 02: 48

06: 00 07: 30

09: 12 - 10: 48

01: 12 - 06: 00

06: 00 - 07: 36

10: 00 - 10: 48

12: 24 - 02: 48

06: 48 - 08: 24

08: 24 - 11: 36

06: 00 06: 48

10: 48 - 12: 24

03: 00 - 06: 00

09: 12 - 10: 30

12: 00 - 12: 24

02: 00 - 06: 00

10: 48 - 02: 00

05: 12 - 06: 00

रात

06: 48 07: 36

08: 24 10: 00

08: 24 - 11: 36

02: 00 - 03: 36

8: 24 - 11: 36

02: 00 - 03: 36

06: 48 - 10: 48

02: 00 - 04: 24

10: 00 - 12: 24

08: 24 - 10: 48

01: 12 - 02: 00

08: 24 - 10: 48

12: 24 - 02: 48

तारीख

रविवार

18, 25 अक्टूबर और 1, 8 नवंबर

सोमवार

19, 26 अक्टूबर और 2, 9 नवंबर

मंगलवार

20, 27 अक्टूबर और 3, 10 नवंबर

बुधवार

14, 21, 28 अक्टूबर और 4, 11 नवंबर

बृहस्पतिवार

15, 22, 29 अक्टूबर और 5, 12 नवंबर

शुक्रवार

16, 23, 30 अक्टूबर और 6, 13 नवंबर

शनिवार

17, 24, 31 अक्टूबर और 7 नवंबर

दिन

07: 36 - 10: 00

12: 24 - 02: 48

04: 24 - 05: 12

06: 00 09: 10

09: 12 - 10: 48

01: 12 - 06: 00

06: 00 - 07: 36

10: 00 - 10: 48

12: 24 - 02: 48

06: 48 - 08: 24

08: 24 - 11: 36

06: 00 - 06: 48

10: 48 - 12: 24

03: 00 - 06: 00

09: 12 - 10: 30

12: 00 - 12: 24

02: 00 - 06: 00

10: 48 - 02: 00

05: 12 - 06: 00

रात

07: 36 - 09: 12

11: 36 - 02: 00

08: 24 - 11: 36

02: 00 - 03: 36

08: 24 - 11: 36

02: 00 - 03: 36

06: 48 - 10: 48

02: 00 - 04: 24

10: 00 - 12: 24

08: 24 - 10: 48

01: 12 - 02: 00

08: 24 - 10: 48

12: 24 - 02: 48

04: 24 - 06: 00

त्रुटि: सामग्री की रक्षा की है !!

जय गुरुदेव

आप 1 अक्टूबर - 4 अक्टूबर से कैलाश नारायण धाम दिल्ली में व्यक्तिगत रूप से पूज्य गुरुदेव से मिल सकते हैं; और कैलाश सिद्धाश्रम जोधपुर में १ 17 अक्टूबर - २५ अक्टूबर। सद्गुरुदेव से मिलने की इच्छा रखने वाले साधु व्यक्तिगत रूप से पूर्ण नहीं होंगे पूर्व पंजीकरण गुरुधाम से संपर्क करके।
-------------------------------
सद्गुरुदेव कैलाशचंद्र श्रीमालीजी से मार्गदर्शन-उपासना प्राप्त करने के लिए सिद्धाश्रम साधकों के साधकों को अवसर प्रदान करने के लिए अक्सर साधना शिविर और दीक्षा कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। आप हाल ही में कई महीनों तक पूज्य गुरुदेव से मिलने में असमर्थ रहे हैं, क्योंकि वर्तमान में ये सगाई गतिविधियाँ रद्द कर दी गई हैं। इसलिए, कैलाश सिद्धाश्रम ने आपको सक्षम करने के लिए एक प्रक्रिया शुरू की है व्यक्तिगत रूप से पूज्य गुरुदेव से बात करें मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए। कृपया कैलाश सिद्धाश्रम जोधपुर से संपर्क करें + 91 99508 - 09666 or + 91- (0291) -2517025 अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए।
-------------------------------
पूज्य गुरुदेव और वंदनीया माताजी सभी शिष्यों के कल्याण और आध्यात्मिक-भौतिक उत्थान के लिए साधना-पूजा करेंगे। 11:30-अक्टूबर को 17:20 बजे IST। सभी साधकों को नवरात्रि के दौरान इस दिव्य अवधि में सकारात्मक ऊर्जा कंपन का पूरा लाभ प्राप्त करने के लिए, इस समय अवधि के दौरान अपने परिवारों के साथ मंत्र, जप और साधना करना चाहिए। आपको इन सकारात्मक स्पंदनों के दौरान शांति और शांति से बैठना चाहिए, विचारों को बिना किसी व्याकुलता के अपने मन से गुजरने दें, और मंत्र और साधना की सकारात्मक ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास करें। दीक्षा लेने वाले साधकों के लिए इस दिव्य अवधि के दौरान दीक्षा मंत्रों का जाप करना अनिवार्य है।
आप लाइव पर भी भाग ले सकते हैं रात 8 बजे IST से 17-25 अक्टूबर पूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन से संपन्न कर सकते हैं - फेसबुक लाइव or Youtube लाइव पूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में साधना करना। कृपया कैलाश सिद्धाश्रम जोधपुर से संपर्क करें + 91 99508 - 09666 or + 91- (0291) -2517025 अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए।

X
के माध्यम से बाँटे
प्रतिरूप जोड़ना